गांधी जी के बारे में हिंदी में - Gandhiji In Hindi

 गांधी जी के बारे में हिंदी में - Gandhiji In Hindi 

गांधी जी के बारे में हिंदी में - Gandhiji In Hindi

पहले तो सबको हैप्पी गांधी जयंती डे. 

देखो गांधीजी के पास क्या था, सिर्फ एक विश्वास, एक उम्मीद थी... कि एक दिन देश आजाद होगा और उनके इस विश्वास ने ही उनको शक्ति दी...

नहीं तो सोचो गांधीजी का शरीर कैसा था... दुबला पतला था, वह लाठी के सहारे चलते थे.. फिर भी उन्होंने देश को आजादी दिलाई।

उन्होंने प्रॉब्लम की तरफ नहीं देखा, की लोग मेरा साथ देंगे, मेरा शरीर तो दुबला पतला है, में लाठी के सहारे चलता हू. आखिर देश आजद होगा या हम ऐसे ही गुलामी करते रहेगें।

गांधीजी के दिमाग में सिर्फ यही था, की देश आजाद होगा, अग्रेजो को हम इस देश से निकालेगे और वह भी अहिंसा से। 

उनके एक विश्वास ने ही उनको शक्ति दी, और उन्होंने देश को आजादी दिलाई।

देश को आजादी दिलाना गांधीजी का दृढ़ संकल्प था और उनके इस दृढ़ संकल्प से ही देश आजाद हुआ।

वैसे देश को आजादी दिलाने में बहुत सारे लोगों का हाथ था और वह सब एक दृढ़ संकल्प वाले थे, इसलिए आज उनका नाम इतिहास में दर्ज है शहीद भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, राजगुरु, सुखदेव, लाला लाजपत राय, सुभाष चंद्र बोस और भी बहुत से महापुरुष थे, जिनके वजह से हम आज आजाद है.

कहने का मतबल है कि देश आजाद हो पाया एक सोच से, एक विश्वास से... एक दृढ़ संकल्प से

तो हम भी एक सोच और एक विश्वास और एक दृढ़ संकल्प से आगे बढ़ सकते है।

देखो सब काम मुश्किल है होता है, लेकिन अगर आप एक बार उस काम को शुरू कर देते है, तो वह धीरे - धीरे आपके लिए आसान होता जाता है।

और किसी भी फिल्ड में आप तब सफल होगे जब आप एक दृढ़ संकल्प करोगे खुद से और खुद पर विश्वास करोगे।   - Great Sanju

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां